Tag Archives: yoga and sex

Can love be expressed sexually?

The spiritual disciplines first make us learn how to separate love from sex and when you become capable of this you can use the magic potion in your life which is called ‘Sacred Sexuality’. Continue reading

Posted in Conversations with master.. | Tagged , , , , , | 2 Comments

Tantra – Total acceptance of Cosmic Love Energy

मानव शरीर में प्रवाहित हो रही ऊर्जाओं का प्रबंधन हो सके तो मनुष्यता के बहु-आयामी विकास की एक क्रांतिकारी शुरुआत हो सकती है। तंत्र कहता है कि इस मानव शरीर में ऊर्जाओं के सात केंद्र या चक्र हैं व इन्ही सप्त-चक्रों (मूलाधार, स्वाधिष्ठान, मणिपुर, अनाहत, विशुद्ध, आज्ञा एवं सहस्रार) के बीच प्रेम-शक्ति का सतत एवं सम्यक प्रवाह ही सम्यक स्वास्थ्य है । Continue reading

Posted in Master's Silence | Tagged , , , , , , , , | 1 Comment